गणतंत्र दिवस – शक्ति व संस्कृति का मिश्रित प्रदर्शन

National Others
Save

Business Mantra : Faridabad

26 जनवरी 2016, 67वाँ गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह राजपथ, इंडिया गेट, नई दिल्ली में बड़े धूमधाम से समायोजित किया गया।

इस गणतंत्र दिवस पर अंतर्राष्ट्रीय मुख्य अतिथि, फ्रांस के माननीय राष्ट्रपति श्री Francois Hollande हैं, जो 3 दिन के राजकीय यात्रा पर भारत पधारे हैं।

दिन का शुभारंभ, “अमर जवान ज्योति” जो कि प्रसिद्ध युद्ध स्मारक, नई दिल्ली के इंडिया गेट पर स्थित है, पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शहीदों को सम्मान और श्रद्धाजंलि अर्पित के साथ किया गया।

इसके पश्चात् माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, माननीय रक्षामंत्री श्री मनोहर पार्रिकर और अन्य गणमान्य मंत्रियो, अधिकारियों व तीनों रक्षासेवा प्रमुखों के साथ माननीय राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी व फ्रांस के राष्ट्राध्यक्ष श्री Francois Hollande का स्वागत मुख्य सलामी समारोह स्थान पर किया गया ।

भारतीय इतिहास में पहली बार फ्रांस के सुरक्षा टुकड़ी, जिसमें 124 सिपाही व अधिकारीगण थे, ने दोनो राष्ट्रपतियों को अपनी सलामी प्रस्तुत की।

तीनो सेनाओं ने मिसाइल, टैंक, प्रक्षेपण यान, इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली यंत्र प्रदर्शित किए। थल सेना, नौसेना, वायु सेना, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, रेलवे सुरक्षा बल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, सीमा सुरक्षा बल, राष्ट्रीय कैडेट कोर सभी ने परेड में भाग लेते हुए राष्ट्रपति को औपचारिक सलामी दी।

रिमाउंट veterinary कोर के द्वारा Dog squad ने अपने सहगामी सहित, राष्ट्रपति जी को अपनी सलामी प्रस्तुत की। सीमा सुरक्षा बल के ऊंट के दस्ते भी इस परेड में शामिल थे।

17 राज्यों की सामाजिक, सांस्कृतिक, पौराणिक प्रथाओं को प्रदर्शित करती हुई झाकियाँ भी परेड में शामिल रही। इसके पश्चात् विभिन्न मंत्रालयो जैसे कि जन कल्याण, नवीकरणीय ऊर्जा, पेयजल, संचार, पंचायती राज और भारतीय निर्वाचन आयोग ने भी विभिन्न झाकियाँ प्रदर्शित की।

दर्शको ने तालियो की गड़गड़ाहट के बीच राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार से सम्मानित 25 बच्चो का अभिनन्दन किया। दिल्ली के स्कूलो के बच्चो द्वारा प्रदर्शित भारतीय लोकनृत्य प्रस्तुत किए गए। लोगों ने तालियो की गड़गड़ाहट के साथ स्कूली बच्चो के प्रदर्शन की सराहना की।

मोटर साइकिल के जाँबाज़ों द्वारा किए गए करतबों (stunt) की दर्शको द्वारा खूब सराहना की गई । हैलीकॉप्टर एवम् हवाईजहाजों के हवाई करतब देखते ही दर्शको के मन उल्लासित हो उठे और हर्षध्वनि द्वारा उनका अभिनन्दन किया गया।

इस पूरे कार्यक्रम में सांस्कृतिक व शक्ति प्रदर्शन के बीच फ्रांस के राष्ट्रपति की सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे तथा ISIS की धमकी के बावजूद इस अवसर को थल और वायु सुरक्षा से सफल बनाया गया।

About the author

admin