साप्ताहिक राशिफल 6 मार्च 2016 से 12 मार्च 2016 तक

Rashifal
Save

Business Mantra: Faridabad

साप्ताहिक राशिफल 6 मार्च 2016 से 12 मार्च 2016 तक

 Taurus

मेष:– (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)

6-7 ता. सुख व सांत्वना प्रेरित करेगी परन्तु निवेश अथवा लेन-देन में सावधानी बरतें। 8-9 ता. लाभमार्ग प्रशस्त रहेगा। मिलन, चर्चा व आवामन भी उत्साह जनक रहेगा। 10-11 ता. कुछ ठीक नहीं। व्यर्थ खर्च और सोच विचार को हावी ना होने दें। नियम व संयम बनाये रखें। 12 ता. मिश्रित फलदायक हैं। उतार-चढ़ाव के चलते विचलित ना हों। चंद्र शुक्र का मंत्र जप करें।

 Taurus (2)

वृष:– (ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)

6-7 ता. भाग्यवृद्धि के उपाय हों। आवागमन, वार्ता व मेल-मिलन भी उत्साह जनक रहे। 8-9 ता.योजनाऐं व जिम्मेदारियाँ प्रभावित करेंगी। मेहनत व संघर्ष का सितारा बुलंद रहेगा।10-11 ता. समान्यत: अच्छी ही रहेंगी। लाभकारी योजनाऐं उत्साह बढ़ायेगी। 12 ता. स्वयं पर काबू रखें। उत्तेजित ना हों। सूर्य बुध का मंत्र जप करें।

 Gemini

मिथुन:– (क,  की,  कु,  घ,  ड़,  छ,  के,  को,  ह)

6-7 ता. कुछ बिडम्बना अथवा मायूसियाँ प्रभावित कर सकती हैं। डर, चिन्ता अथवा मन-मुटाब को हावी ना होने दें। 8-9 ता. शुभ चिन्तक काम आ सकते हैं। नवीन योजनाऐं भी उत्साहित करेंगी। 10-11 ता. मिश्रित फलदायक हैं। कामकाज के साथ-साथ कुछ  घरेलू चिन्ताऐं भी प्रभावित कर सकती हैं। 12 ता. कुछ कर्ज अथवा स्वास्थ्य संबंधी चिन्ताओं को छोड़कर समान्यत: अच्छी ही रहेगी। शनि का मंत्र जप करें।

 cancer

कर्क:–  (ही,  हू,  हे, हो,  डा,  डी,  डू,  डे,  डो)

6-7 ता. सुख-समृद्धि के उपाय बलवती रहेंगे। मिलन, चर्चा व आवागमन भी उत्साह जनक रहेगा। 8-9 ता. कुछ ठीक नहीं। पूर्ति और संतुष्टि कर पाना भी मुशकिल हो सकता है। अचानक क्रोध को ना हावी होने दें। 10-11 ता. सुधार व निर्माणकारी कार्यों को बल मिलेगा। बौद्धिक उलझनें भी दूर होती नजर आयेंगी। 12 ता. कुछ निवेश अथवा पुरानी चिन्ताओं को छोड़कर समान्यत: अच्छी ही रहेगी। चंद्रमा का मंत्र जप करें और सूर्य को जल दें।

 Lion

सिंह:–  (मा,  मी,  मू,  मे,  मो,  टा,  टी,  टू,  टे)

6-7 ता. कर्ज, स्वास्थ्य अथवा विरोधियों की चिन्ता प्रभावित कर सकती है। नियम व संयम से रहना ही उचित होगा। 8-9 ता. शुभ हैं। सहयोग व साधन बनेंगे। विस्तार व सुधार की योजनाऐं भी उत्साह जनक रहेंगी। 10-11 ता. कुछ संभलकर रहना चाहिये। कोई चूक अथवा गलती पछतावे का कारण हो सकती है। 12 ता. समान्यत: अच्छी ही रहेगी। सूर्य का मंत्र जप करें।

 Virgo

कन्या:– (टो,  प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो,)

6-7 ता. स्वजनों व परिजनों में मन रहेगा। इच्छाऐं व योजनाऐं उत्साहित रखेगी। 8-9 ता. कोई कारण व अनचाही चिन्ता प्रभावित कर सकती है। भावनाओं पर अवश्य काबू रखें। 10-11 ता. समान्य फलदायक हैं। मिलन और आवागमन उत्साहित करेगा। मांगलिक और धार्मिक योजना पर भी विचार होगा। 12 ता. व्यर्थ चक्करों में ना पड़ें। केतु का मंत्र जप करें।

 Libra

तुला:–  (रा,  री,  रू,  रे,  रो,  ता,  ती,  तू,  ते)

6-7 ता. विस्तार व सुधार की योजना बलवती रहेगी। मनोरंजक क्षणों की अनुभूतियाँ भी उत्साहित रखेंगी। 8-9 ता. समान्यत: अच्छी ही रहेंगी। अध्ययन व जानकारियाँ भी काम आयेंगी। 10-11 ता. संभलकर रहना चाहिये। बहसबाजी अथवा मनमुटाव भी काम खराब कर सकता है। 12 ता. वाणी पर काबू रखें। मित्रता व दाम्पत्य सुख में क्रोध ना करें। बृहस्पति का मंत्र जप करें।

 Scorpio

वृश्चिक:-  (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)

6-7 ता. समाचारों व विचारों का आदान-प्रदान हो। मेल- मिलन व जानकारियाँ बढ़ें। 8-9 ता. मिश्रित फलदायक हैं। वैर-विरोध और बहसबाजी से भी बचें। 10-11 ता. शुभ हैं। रचनात्मकता बढ़ेगी। दूसरों के भी काम आयेंगे। 12 ता. कुछ ठीक नहीं। कर्ज,स्वास्थ्य अथवा विरोधियों की चिन्ता भी प्रभावित कर सकती है। सूर्य का मंत्र जप करें।

 Sagittarius

धनु – (ये, यो, भ, भी, भू, ध, फा, ढा, भे)

6-7 ता. नियम व संयम की आवश्यकता है। भावनाओं पर काबू रखें। 8-9 ता. स्वयं पर भरोसा और उत्साह प्रबल रहेगा। दूसरों के काम भी आयेंगे। 10-11 ता. सुख व आराम में कमी महसूस हो सकती है। मन उचाट सा रहेगा। 12 ता. अगर क्रोध और उत्तेजना ना हो तो समान्यत: अच्छी ही साबित होंगी। मंगल शुक्र का मंत्र जप करें।

 capricorn

मकर –(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी )

6-7 ता. आशाऐं बलवती रहेगी। उत्सुकता व तत्परता बनी रहेगी। 8-9 ता. रुकावट अथवा हानी के संकेत परेशान कर सकते हैं। वाणी पर आवश्य कन्ट्रोल रखें। 10-11 ता. मिश्रित फलदायक हैं। उतार-चढ़ाव की सी स्थिति बनी रहेगी। 12 ता. शुभ हैं। समान्यत: स्थिति संतोष जनक ही रहेगी। चंद्रमा शुक्र का मंत्र जप करें।

 Aquarius

कुम्भ –(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)

6-7 ता. भावनाओं का द्वेग और समय भी व्ययकारी हो सकता है। 8-9 ता. सुधार व उन्नती जनक हैं। दूसरों के लिए भी तत्पर रहेंगे। 10-11 ता. धनवृद्धि व पारिवारिक उत्थान के कार्यक्रम प्रभावित करेंगे। योजनाऐं बलवती रहेंगी। 12 ता. विचलित ना हों। सूर्य बुध का मंत्र जप करें।

 Pisces

मीन – (दी, दू, थ, झ, ञा, दे, दो, चा, ची )

6-7 ता. मित्र व प्रेमीजन मिलन हो। योजनाऐं क्रियान्वित हों। 8-9 ता. स्वयं पर काबू रखें। जल्दबाजी, बहसबाजी और व्यर्थ खर्च से भी बचें। 10-11 ता. कुछ सुधार होगा परन्तु पुरानी बात को लेकर उत्तेजित ना हों। 12 ता. वृद्धि व उन्नती के कार्यक्रम उत्साहित करेंगे। उत्साह प्रबल रहेगा। केतु बृहस्पति का मंत्र जप करें।

About the author

admin