भारत सरकार ला रही है Bitcoin का विकल्प

Finance News National News
Save

Business Mantra News


भारत सरकार Bitcoin को क़ानूनी Fiat Currency मानने से पहले ही इंकार कर चुकी है और Bitcoin समेत सभी Crypto Currencies को अवैध घोषित किया है। इनकम टैक्स विभाग ने कुछ ही समय पहले भारत के Bitcoin निवेशकों और Traders Broker के यहाँ छापेमारी की और जिन भी निवेशकों की सूची मिली उन सभी के पास आयकर विभाग ने नोटिस भेजे है। इस के फलस्वरूप Bitcoin में हो रही अंधाधुंध तेजी में न केवल एक रोक लगी अपितु Bitcoin के दाम औधेंमुंह जा गिरे।

परन्तु यह भी सत्य है कि सरकार फियट करंसी में लोगों का सकारात्मक रुझान देख चुकी है और यह भी अंदाजा लगा चुकी है कि केवल कानून बना कर लोगों को बहुत लम्बे समय तक Bitcoin आदि Crypto/Fiat Currency से दूर रखना आसान नहीं होगा। इसलिए भारत सरकार ने भारत को अपनी Fiat Currency, जिसका नाम लक्ष्मी लाने का मन बनाया है।

Fiat Currency वह करंसी होती है जिसकी कीमत न तो निश्चित होती है और न ही उसके बदले में आने वाले उत्पाद व सेवाओं से निर्धारित की जाती है। अपितु Fiat Currency की कीमत किसी भी समय उसके मांग और पूर्ति (Demand & Supply) से निर्धारित होती है।

लक्ष्मी के नाम से Bitcoin का विकल्प भारत में लाने के लिए सरकार ने एक कमेटी का गठन भी कर दिया है जिसमें सेबी, रिजर्व बैंक, आयकर विभाग, कस्टम विभाग और Financial Intelligence Unit के शीर्ष अधिकारिओं को शामिल किया गया है यदि संभव होता है तो रिजर्व बैंक भारत में रूपए के साथ रूपए के विकल्प लक्ष्मी को भी नियंत्रित करेगा। इसके बारे में बाकी जानकारी www.laxmicoin.com नामक website से मिल सकती है जिसमे जानकारी लेने के लिए Download White Paper पर क्लिक करना होगा। यह white paper February 2018 में जारी किया गया है इसमें Laxmi Coin की शुरुआत करने का समय दिए गए Road Map नीती के अनुसार Q2 2018 है।

नोटबंदी के बाद Currency में होने वाला यह एक बहुत बड़ा बदलाव होगा जिसके परिणाम आने वाला समय ही बताएगा।

About the author

admin